दाऊद इब्राहिम की 15 हजार करोड़ की संपत्ति जब्त

0
295

मास्टरमाइंड और अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहिम के खिलाफ संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) सरकार ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है.  यूएई सरकार ने दाऊद की 15 हजार करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है. बताया जाता है कि दाऊद इब्राहिम की यूएई की कई कंपनियों में शेयर हैं और उसकी कई बेनामी संपत्ति भी है.

दाऊद इब्राहिम की दुबई में गोल्डन बॉक्स नाम की कंपनी से जुडी प्रॉपर्टी को यूएई सरकार ने सीज़ किया है. इसके अलावा एक होटल और रियल स्टेट से जुडी प्रॉपर्टी को भी सीज़ किया गया है. करीब 15000 करोड़ रूपये से ज़्यादा की प्रॉपर्टी को जब्त किया गया है. दाऊद अपने गूर्गो के ज़रिये सीज़ किये गए होटल से हवाला कारोबार चलाता था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यूएई दौरे के समय भारत की ओर से दाऊद इब्राहिम की संपत्त‍ि का ब्यौरा सौंपा गया था, जिसके बाद यूएई की ओर से दाऊद के खिलाफ अहम कदम उठाया गया. यूएई सरकार की ओर से बीते साल भारत को एक लिस्ट सौंपा गया था जिसमें बताया गया था कि दाऊद के खिलाफ उन्होंने कार्रवाई शुरू कर दी है. दाऊद की बेनामी संपत्त‍ि की जांच और उसे जब्त करने का काम शुरू कर दिया गया था.

प्रवर्तन निदेशालय ने भी बीते साल दुनिया के 6 देशों से अपील की थी कि वे अपने यहां दाऊद की तमाम संपत्ति को सीज कर लें. ईडी ने जिन 6 देशों को दाऊद की संपत्ति को सीज करने के लिए लेटर रोगेटरी भेजा था, उनमें ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, यूएई, टर्की, साइप्रस और मोरक्को शामिल हैं. दाऊद पिछले 23 साल से हिंदुस्तान का मोस्ट वॉन्टेड है और उसकी काली कमाई का धंधा कई देशों में फैला है.

जब केंद्र में मोदी सरकार बनी थी तब लोकसभा में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि सरकार अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को भारत वापस लाकर रहेगी. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को दिल्ली में एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि सरकार डॉन दाऊद इब्राहिम को भारत लाने का प्रयास कर रही है.

loading...